प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। थाना मसूरी क्षेत्र के गांव इकला रघुनाथपुर स्थित एक मंदिर में एक संदिग्ध युवक को वहां के सेवादारों ने पकड़ा और उससे पूछताछ की तो उसने अपना नाम समीर उर्फ आस मोहम्मद बताया। सेवादारों के अनुसार उसके बैग की तलाशी ली गई तो उसमें एक विदेशी हथियार, चाकू और ब्लेड मिले। सूत्रों ने बताया कि इस मंदिर में कई महंत आये हुए थे और उनके प्रवचन चल रहे थे। इसमें प्रमुख रूप से महामंडलेश्वर प्रबोद्घानंद भी आए हुए थे। पुलिस मामले की जांच कर रही है। हालांकि, पुलिस के बड़े अधिकारी कुछ भी खुलकर बोलने के लिए तैयार नहीं हैं कि ये संदिग्ध व्यक्ति क्यों आया था। वहीं, बताया जा रहा है कि ये व्यक्ति 21 तारीख को भी मंदिर में आया था और बीती रात फिर ये दोबारा मंदिर में आया। समीर दादरी के पल्ला गांव का रहने वाला है। बताया जा रहा है कि समीर के अनुसार वह संतो के प्रवचन सुनने के लिए आया था। हालांकि इसमें कितनी सच्चाई हैं ये पुलिस जांच से पता चलेगा। वहीं, महामंडलेश्वर का कहना है कि वह उनकी हत्या के इरादे से आया था। जबकि, अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टिï नहीं की गई है। एक बड़े अधिकारी के अनुसार अभी पूछताछ चल रही है और वह कुछ भी आधिकारिक बयान नहीं दे सकते। वहीं, मंदिर परिसर की सुरक्षा व्यवस्था मजबूत कर दी गई है। सूत्रों के अनुसार इकला इनायतुपर गांव में स्थित प्याऊ वाले मंदिर में तीन दिवसीय धार्मिक कार्यक्रम का अयोजन कल से शुरू हुआ था। इस कार्यक्रम में कई बड़े धर्मगुरु शामिल होने आए थे। समाचार लिखे जाने तक जनपद पुलिस के आला अधिकारी के अलावा खुफिया व अन्य सुरक्षा एजेंसी समीर उर्फ आस मोहम्म्द से गहन पूछताछ कर रही थीं।