युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। राजधानी लखनऊ में अल कायदा के मॉड्यूल के पकड़े जाने के बाद रोज नए नए खुलासे हो रहे हैं। देश को बम विस्फोटों से दहलाने के लिए अल कायदा से जुड़े आतंकियों के पकड़े जाने के बाद अब मॉड्यूल की जांच में अब दिल्ली पुलिस की स्पेशल ब्रांच, मुंबई पुलिस की एटीएस और इंटेलिजेंस ब्यूरो भी शामिल हो गए हैं। वहीं इंटेलिजेंस ब्यूरो की जांच में पता चला है कि अल कायदा के इस मॉड्यूल से जुड़े आतंकवादी उत्तर प्रदेश, बिहार, पंश्चिम बंगाल में ट्रेन धमाका करने वाले थे। उनके निशाने पर आम यात्री थे। आईबी की एक टीम ने आईएसआई के एक संदेश को डिकोड किया है। इसमें आतंकवादियों से ट्रेनों में धमाके करने को कहा गया। आईबी की टीम अब इस बात की जांच करने में जुट गई है कि पिछले दिनों बिहार के दरभंगा और समस्तीपुर जिलों में हुए धमाकों के पीछे कहीं अल कायदा के इस मॉड्यूल का तो हाथ नहीं है। दरभंगा के मस्जिद में पिछले दिनों बड़ा धमाका हुआ था। सूत्रों के अनुसार, आईबी की टीम को पाकिस्तान के पंजाब प्रांत से एक मैसेज मिला है, जिसको डिकोड करने पर पता चला कि यूपी, बिहार और पश्चिम बंगाल में ट्रेनों में धमाका करने की योजना थी। इस मैसेज के बाद इन तीन राज्यों को अलर्ट कर दिया गया है।
वहीं, लखनऊ से पकड़े गए दो संदिग्ध आतंकियों को चौदह दिनों की रिमांड पर भेज दिया गया। राजधानी लखनऊ के काकोरी इलाके से अल कायदा के दो संदिग्ध आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद यूपी एटीएस अब दोनों के मददगारों और साथियों की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है। यूपी एटीएस को आतंकी साजिश के तार कानपुर से जुड़ते नजर आ रहे हैं। यूपी एटीएस ने फंडिंग के शक में कानपुर के चमनगंज से एक बड़े बिल्डर को उठाया है। बिल्डर को हिरासत में लेने पर इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। इससे पहले भी सोमवार को यूपी एटीएस ने दो लोगों को कानपुर से हिरासत में लिया था। वहीं, एटीएस की एक और टीम ने आज मुजफ्फरनगर में छापेमारी की है। मुजफ्फरनगर के रेलवे स्टेशनों, बस अड्डों, होटलों और सरायों में चेकिंग अभियान चलाने के साथ ही खुफिया विभाग ने भी अपने नेटवर्क को अलर्ट कर दिया है। मुजफ्फरनगर में आतंकियों को फंडिंग किए जाने मामले में एनआईए पूर्व में छापेमारी कर चुका है, जबकि इससे पहले भी आतंकियों का सीधा कनेक्शन मुजफ्फरनगर में मिल चुका है। मुजफ्फरनगर दंगों के बाद जिले के चरथावल में आतंकी संगठन अन्सारुल्ला बांग्ला टीमÓ का संदिग्ध आतंकी अब्दुल्ला गिरफ्तार हुआ था, जिसके पास से फर्जी पासपोर्ट और संदिग्ध दस्तावेज मिले थे।