युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। आईएमएस इंजीनियरिंग कॉलेज में साइबर अपराध को रोकने और लडऩे के लिए साइबर अपराध जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान छात्रों को साइबर क्राइम से बचाव के बारे में पुलिस अधिकारियों द्वारा टिप्स दिए गए।
कार्यक्रम का शुभारंभ संक्षिप्त परिचय के साथ किया गया, आईएमएस इंजीनियरिंग कॉलेज के निदेशक डॉ. विक्रम बाली द्वारा मुख्य वक्ता एसपी साइबर क्राइम यूपी प्रो. त्रिवेणी सिंह, वरिष्ठ अधिकारी अजीत सक्सेना और रीता यादव का स्वागत किया गया। डॉ. विक्रम बाली ने कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य आज की दुनिया में हो रहे साइबर अपराध जैसे पेमेंट गेटवे हैकिंग, क्रेडिक कार्ड धोखाधड़ी, मेलवेयर, ट्रोजन हॉर्स आदि के बारे में युवाओं को जागरूक करना है।
मुख्य वक्ता डॉ. त्रिवेणी सिंह ने देश में हर घंटे में हो रहे प्रमुख अपराधों के बारे में बताते हुए विभिन्न प्रकार के साइबर अपराधों के बारे में जानकारी दी। डॉ. सिंह ने साइबर क्राइम डिवीजन के संबंध में भारतीय पुलिस से सबंधित विभिन्न कैरियर विकल्पों और संभावनाओं पर छात्रों को शिक्षित किया।
वहीं अजीत सक्सेना ने साइबर अपराधों के विभिन्न उदाहरणों को छात्रों के साथ साझा किया और बताया कि हम अपने निजी जीवन में ऐसी स्थिति का सामना करने से कैसे बच सकते हैं। रीता यादव ने भी इस बात पर जोर दिया कि कैसे अपराधी युवाओं के खिलाफ विभिन्न अपराधों के लिए सामाजिक नेटवर्क का उपयोग कर रहे हैं। उन्होंने इससे बचाव के लिए कई सुझाव दिए। सत्र का समापन निदेशक डॉ. विक्रम बाली ने सभी का आभार व्यक्त कर किया।