नोएडा (युग करवट)। नियमित टीकाकरण से छूटे बच्चों और गर्भवती के लिए चलाए गये सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान का दूसरा चरण 12 अप्रैल को संपन्न हुआ। इस अभियान में गौतमबुद्धनगर में लक्ष्य से अधिक टीकाकरण किया गया। दूसरे चरण के अभियान में शून्य से दो वर्ष तक के बच्चों का लक्ष्य से अधिक 108 प्रतिशत जबकि गर्भवती का 186 प्रतिशत टीकाकरण किया गया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर सुनील कुमार शर्मा ने बताया कि आईएमआई-4.0 का तीसरा चरण दो से नौ मई तक चलेगा। शून्य से दो वर्ष तक के सभी बच्चों और गर्भवती का टीकाकरण स्वास्थ्य विभाग की ओर से निशुल्क कराया जाता है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी (डीआईओ) डॉक्टर सुनील दोहरे ने बताया कि विभिन्न बीमारियों से बचाव के लिए शून्य से दो वर्ष तक के बच्चों को स्वास्थ्य विभाग की ओर से नियमित टीकाकरण (आरआई) के अंतर्गत टीके लगाये जाते हैं। इस चरण के दौरान गौतम बुद्ध नगर में टीकाकरण के लिए कुल 1060 सत्र आयोजित किए गए। इन सत्रों में दो वर्ष तक के 14726 बच्चे और 4446 गर्भवती प्रतिरक्षित की गईं। डीआईओ ने 9217 बच्चों और 2386 गर्भवती के टीकारण का लक्ष्य निर्धारित था। इस तरह निर्धारित लक्ष्य से 108.83 प्रतिशत बच्चों और 186.34 प्रतिशत गर्भवती का टीकाकरण किया गया। गौतमबुद्ध नगर के ब्लाक बिसरख में 3575 बच्चों और 1170 गर्भवती, दादरी में 2754 बच्चों और 662 गर्भवती, दनकौर में 2629 बच्चों और 876 गर्भवती, शहरी क्षेत्र में 4295 बच्चों और 1331 गर्भवती, जेवर ब्लाक में 1473 बच्चों और 407 गर्भवती का टीकाकरण किया गया। दो मई से आईएमआई-4.0 का तीसरा चरण शुरू होगा। यह चरण भी एक सप्ताह तक चलेगा।