युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। रविवार देर शाम से शुरू हुए आंधी-बारिश के चलते आधे से अधिक शहर में ब्लैक आउट हो गया। तेज बारिश और आंधी के चलते जगह-जगह से पेड़ उखड़ गए, जिसकी वजह से बिजली की लाइनें टूट गईं।
बड़े पैमाने पर बिजली के खंभे उखड़ जाने से दर्जनों कॉलोनियों में रात भर बिजली नहीं आ सकी। बारिश होने के चलते विभागीय कर्मचारी फॉल्ट को ठीक नहीं कर पा रहे थे। सोमवार सुबह बारिश थमने के बाद पॉवर कॉरपोरेशन के अधिकारी पॉवर सप्लाई के साथ ही नुकसान के आंकलन में जुट गया है। प्राथमिक स्तर पर लाखों रुपए के नुकसान की बात विभागीय अधिकारी कर रहे हैं, लेकिन अभी स्पष्टï नहीं हो सका है कि कुल कितने का नुकसान हुआ है।
बता दें कि रविवार शाम से ही मौसम बदलना शुरू हो गया था, उसके बाद तेज आंधी चलने के साथ तेज बारिश भी शुरू हो गई थी। तेज हवाओं के चलते जगह-जगह पेड़ उखड़ कर बिजली की लाइनों पर गिर गए तो वहीं विद्युत पोल भी उखड़ गए। इसकी वजह से जिले के अधिकतर क्षेत्रों में रात भर बिजली गुल रही। हालांकि बारिश बंद होते ही विभागीय अधिकारी व कर्मचारी फील्ड में पहुंच गए और पेट्रोलिंग कर विद्युत सप्लाई से लेकर नुकसान के आंकलन में जुट गए हैं। सुबह तक भी लोनी क्षेत्र में बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो पाई है।
पॉवर कॉरपोरेशन के मुख्य अभियंता एसके पुरवार ने बताया कि विभाग की प्राथमिकता अभी सभी क्षेत्रों में बिजली सप्लाई शुरू करना है।
बारिश के कारण बड़ी संख्या में फॉल्ट हुए हैं। उन्होंने दावा किया है कि करीब ९० फीसदी फॉल्ट को ठीक कर सप्लाई शुरू कर दी गई है। बाकी टीमें लगातार पेट्रोलिंग में जुटी हुई हैं, जहां-जहां फॉल्ट मिल रहे हैं, उन्हें ठीक कराया जा रहा है। इसके साथ ही बड़े पैमाने पर हुए नुकसान का भी आंकलन किया जा रहा है। मुख्य अभियंता ने दावा कि शाम तक सभी क्षेत्रों में सप्लाई पूरी तरह से बहाल कर दी जाएगी।