युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। छठ पूजा महापर्व के तीसरे दिन आज शाम को अस्ताचलगामी सूर्य को पहला अघ्र्य दिया जाएगा। सूर्य को अघ्र्य देने के लिए हिंडन घाट सहित विभिन्न क्षेत्रों में अस्थाई तालाब व गड्ढे बनाकर तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। भगवान भास्कर को महापर्व के तीसरे दिन बुधवार शाम को पहला अघ्र्य दिया जाएगा। इसके लिए हिंडन घाट सहित अन्य अस्थाई घाटों पर अघ्र्य देने के लिए तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।
नदी में बैराज से छोड़ा गया पानी भी पहुंच गया है जिसकी वजह से काफी हद तक नदी भी साफ हो गई है। नगर निगम द्वारा अस्थाई रूप से पानी की टंकी लगवाई जा रही हैं। पानी के टैंकर रखे जा रहे हैं ताकि व्रतियों को अघ्र्य देने में पानी की कमी ना हो। इसके अलावा पीने के पानी की भी अलग से व्यवस्था की जा रही है। मोबाइल शौचालयों के अलावा विद्युत व्यवस्था की जा रही है। ढलते सूर्य को अघ्र्य देने के उपरांत बड़ी संख्या में छठ व्रती अपने परिजनों के साथ घाट पर ही रूकते हैं। ऐसे में पूरे घाट पर पर्याप्त रोशनी रहे, इसके लिए घाट के दौरान स्ट्रीट लाइट लगाई गई हैं। नदी में बेरिकेट्स लगाए गए हैं। आज शाम को पूजन सामग्री के साथ सूर्य को पहला अघ्र्य दिया जाएगा। आज शाम सूर्य अस्त पांच बजकर २१ मिनट पर होगा। अघ्र्य देने के लिए जिला प्रशासन, नगर निगम, सिंचाई विभाग के अधिकारी तैयारियों को अंतिम रूप दे रहे हैं। वहीं सैक्टर-२३ पुलिस चौकी के सामने वाली टंकी परिसर में छठ व्रतियों के लिए अस्थायी तालाब बनाया गया है। साथ ही फूलों व रंगोली से सजावट भी की गई है।