नई दिल्ली। जंतर-मंतर पर कथित भड़काऊ नारेबाजी के मामले में आरोपित सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता व भाजपा नेता अश्विनी उपाध्याय व पांच अन्य को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट में इनकी रिहाई का विरोध किया। इसके बाद कोर्ट ने अश्वनी उपाध्याय को 2 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। अदालत ने अश्वनी उपाध्याय समेत सभी आरोपितों को दो दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा है।
वहीं, ड्यूटी मेट्रोपालिटन मजिस्ट्रेट तान्वी खुराना के समक्ष पुलिस ने कानून-व्यवस्था का हवाला देते हुए आरोपितों को रिहा नहीं करने की अपील की थी। अदालत ने मामले में सुनवाई के बाद पुलिस के दो अलग-अलग आवेदन पर फैसला सुरक्षित रख लिया। अतिरिक्त लोक अभियोजक अतुल श्रीवास्तव ने उपाध्याय, प्रीत सिंह, विनोद कुमार और दीपक कुमार की 14 दिन की न्यायिक हिरासत की मांग करते हुए आवेदन दाखिल किया था।