प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। साईं उपवन में गंदा पानी न घुसे इसके लिए हाईकोर्ट के आदेश के बाद पक्का नाला और पानी साफ करने के लिए ट्रीटमेंट प्लांट नहीं बनाने के मामले में अवमानना का सामना कर रहे नगर निगम की परेशानी और बढ़ गई है। हाईकोर्ट ने इस मामले में नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर को स्वयं उपस्थित होकर अपनी ओर से शपथ पत्र देकर अपना पक्ष कोर्ट में दाखिल करे। इस मामले में अब हाईकोर्ट में अगली सुनवाई 26 जुलाई को होने जा रही है।
बीजेपी के वरिष्ठ पार्षद राजेन्द्र त्यागी ने इस मामले में हाईकोर्ट में नगर निगम के खिलाफ अवमानना का केस फाइल किया था। पार्षद राजेन्द्र त्यागी का कहना है कि वर्ष 2000 में साईं उपवन को नगर निगम द्वारा विकसित किया गया है। इसी पार्क से होकर चमन कॉलोनी का गंदा नाला जा रहा है। यह नाला आगे हिंडन नदी में गिरता है। इस नाले के ओवर फ्लो हो जाने के कारण गंदा पानी साईं उपवन में जमा हो गया। जिस कारण महामाया स्टेडियम के पीछे नगर निगम द्वारा लगाए गए करीब साठ हजार पौधे सूख गए। हाईकोर्ट ने अपने फैसले में नगर निगम को आदेश दिया कि नगर निगम जो नाला साईं उपवन से होकर जाता है उस नाले को पक्का करे और इसके पानी को साफ करने के लिए एक सीवरट्रीटमेंट प्लांट बनाकर उसे हिंडन नदी में डाले।