युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। उत्तरप्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। अजय कुमार लल्लू खुद भी विधानसभा चुनाव हार गए थे। प्रदेश अध्यक्ष के इस्तीफे के बाद से ही कांग्रेस में नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर अटकलों का दौर जारी हैं। संभावना जताई जा रही है कि रामपुर खास विधानसीट से जीतीं अराधाना मिश्रा ‘मोना’ को कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाया जा सकता है। इस बार हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के दो ही विधायक जीतकर आए हैं। इसमें से रामपुर खास से जीतीं अराधना मिश्रा ‘मोना’ ने लगातार तीसरी बार जीत दर्ज की है। उन्हें पार्टी ने विधानमंडल दल का नेता भी नियुक्त कर दिया है। अराधना मिश्रा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी की बेटी हैं। प्रमोद तिवारी रामपुर खास विधानसभा सीट पर लगातार जीत दर्ज करने का रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं।
सन् 2017 के विधानसभा चुनाव में जीतकर आए अजय कुमार लल्लू को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के बाद भी अराधना मिश्रा को विधानमंडल दल का नेता नियुक्त किया गया था। इस बार अजय कुमार लल्लू भी चुनाव हार चुके हैं। ऐसे में अब जल्द ही कांग्रेस में प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किए जाने की मांग उठ रही है। सूत्रों के अनुसार पार्टी हाईकमान चाहता है कि इस बार प्रदेश में फिर से किसी ब्राह्मण को प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंपी जाए। ब्राह्मण को प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपे जाने की कसौटी पर अराधना मिश्रा ‘मोना’ खरा उतरती हैं। ब्राह्मण होने के साथ-साथ वे महिला भी हैं।
ध्यान रहे कि कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने विधानसभा चुनाव में महिलाओं पर खास फोकस किया था। चुनाव के दौरान महिलाओं को ध्यान में रखते हुए उनके हित के लिए तरह-तरह की घोषणाएं पार्टी की ओर से की गई थीं। पार्टी की ओर से ‘लडक़ी हूं, लड़ सकती हूं’ अभियान चलाया गया था और विधानसभा चुनाव के टिकटों में महिलाओं को 40 प्रतिशत आरक्षण भी दिया गया था। पार्टी के सूत्रों के अनुसार ब्राह्मण नेताओं में अराधना मिश्रा के पिता प्रमोद तिवारी और राजेश मिश्रा का नाम भी चल रहा है लेकिन अराधाना मिश्रा को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की संभावनाएं ज्यादा प्रबल बताई जा रही हैं। इससे पूर्व रीता जोशी बहुगुणा कांग्रेस में महिला प्रदेश अध्यक्ष रही हैं। उनके बाद से कोई भी महिला इस पद पर नहीं रही है। ऐसे में अराधना मिश्रा की ताजपोशी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में की जा सकती है।