विशेष संवाददाता
गाजियाबाद। आरएसएस पथ संचलन के दौरान हुए विवाद में कल रविवार को रालोद कार्यकर्ता अरविंद तेवतिया एवं उनके परिजनों पर गंभीर धाराएं लगाकर कविनगर पुलिस ने जेल भेज दिया था। इस प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए आज सुबह रालोद नेताओं ने डीसीपी नगर निपुण अग्रवाल से मुलाकत की और अपनी चार सूत्रीय मांगों का ज्ञापन उन्हें सौंपा। रालोद नेता मांग कर रहे थे कि अरविंद तेवतिया एवं उनके परिजनों पर लगाई गई गंभीर धाराओं को तुरंत हटाया जाए और उनके पिता द्वारा दी गई रिपोर्ट में नामजद कराए गए आरएसएस कार्यकर्ताओं को भी तुरंत गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए। आज सुबह रालोद नेताओं का प्रतिनिधिमंडल महानगर अध्यक्ष डॉ. रेखा चौधरी की अगुवाई में पुलिस आयुक्त कार्यालय पर जमा हुआ। वहां से रालोद के सभी वरिष्ठ नेता घंटाघर पहुंचे और पुलिस उपायुक्त नगर निपुण अग्रवाल से मुलाकात की। रालोद नेताओं ने निपुण अग्रवाल को बताया कि रविवार को कविनगर थाने में रालोद कार्यकर्ता अरविंद तेवतिया व उनके परिजनों को आरएसएस के कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट एवं जान से मारने की धमकी देने की धाराओं में जेल भेज दिया गया था। जबकि, उनके पिता द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट पर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। रालोद नेताओं ने मांग की है कि अरविंद तेवतिया एवं उनके परिजनों पर लगाई गई गंभीर धाराओं को हटाने के साथ-साथ उनके पिता द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट में नामजद आरएसएस कार्यकर्ताओं को तुरंत गिरफ्तार किया जाए। साथ ही अरविंद तेवतिया के साथ अरोपी बनाए गए निर्दोष लोगों के नाम तुरंत विवेचना में मुकदमे से हटाए जाएं। रालोद नेताओं ने यह भी मांग की है कि पुलिस भाजपा नेताओं के दबाव में काम करना बंद करे और इस प्रकरण में निष्पक्ष कार्रवाई की जाए। रालोद नेताओं का कहना था कि ज्ञापन में दी गई उनकी मांगों पर तुरंत कार्रवाई नहीं की गई तो वे बड़ा आंदोलन करने पर विवश होंगे। रालोद नेताओं की मांग पर डीसीपी निपुण अग्रवाल ने गंभीरता से सुनवाई करते हुए जांच कराकर निष्पक्ष कार्रवाई का आश्वासन उन्हें दिया है। इस दौरान प्रदेश प्रवक्ता अजयवीर सिंह एडवोकेट, पूर्व जिलाध्यक्ष अजय प्रमुख, पर्व जिलाध्यक्ष तेजपाल चौधरी, सहकारिता प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष चेयरमैन अमरजीत सिंह बिड्डी, ओडी त्यागी, प्रदीप त्यागी, भूपेन्द्र बॉबी, रविन्द्र चौहान आदि मौजूद रहे।