युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद अब गृहमंत्री अमित शाह भी उत्तर प्रदेश के दौरे पर आ रहे हैं। अपने यूपी दौरे के दौरान अमित शाह भाजपा के सभी बड़े नेताओं के साथ बैठक के साथ ही संगठन से लेकर सरकार का फीड बैक लेंगे। बैठकों में पन्ना प्रमुखों पर रिपार्ट लेंगे और चुनाव जीत के लिए मंत्र देंगे। भाजपा सूत्रों का कहना है कि जम्मू-कश्मीर से लौटने के तुरंत बाद गृहमंत्री अमित शाह उत्तर प्रदेश के दौरे पर आ रहे हैं। दरअसल, केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने यूपी चुनाव की कमान संभाल ली है। अमित शाह अपनी पूरी टीम के साथ परसो यानि शुक्रवार को लखनऊ पहुंच रहे हैं।
जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार को लखनऊ पहुंचने पर चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर अमित शाह का जोरदार स्वागत किया जाएगा। स्वागत करने वालों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल होंगे। इसके बाद वे सीधे वृंदावन योजना में स्थित डिफेंस एक्सपो ग्राउंड पहुंचेंगे। जहां वे पार्टी के सदस्यता अभियान की शुरुआत करेंगे। साथ ही अवध क्षेत्र के शक्ति केंद्र संयोजक और प्रभारी सम्मेलन को संबोधित करेंगे। इसी दौरान अमित शाह एलईडी प्रचार वाहनों को अलग-अलग जिलों के लिए रवाना करेंगे। इन प्रचार वाहनों के जरिए यूपी सरकार के कार्यों को जनता तक पहुंचाया जाएगा। दरअसल में यूपी जीत भाजपा के कई मायनों में महत्वपूर्ण है। 2022 के बाद 2024 में लोकसभा चुनाव होना है। यूपी से भाजपा के साठ सांसद है। यूपी के कारण ही केंद्र में भाजपा सत्ता में हैं। दिल्ली का रास्ता यूपी से होकर जाता है, यह बात भाजपा भलीभांति जानती है। यही कारण है कि 2022 विधानसभा चुनाव में भाजपा ने पूरी टीम को तैयारियों के लिए उतार दिया है।
वहीं अमित शाह अपने यूपी दौरे के दौरान संगठन से लेकर सरकार का फीड बैक लेंगे और चुनाव जीत के लिए मंत्र देंगे। अमित शाह अपने दौरे में पूर्व सांसद, पूर्व विधायक 2019 के लोकसभा चुनाव में लोकसभा क्षेत्र के संयोजक और प्रभारी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर चुनाव की तैयारियों की समीक्षा भी करेंगे और आगे की रणनीति तैयार करेंगे। उत्तर प्रदेश की सत्ता पर भाजपा ने करीब डेढ़ दशक बाद वापसी की थी। इस जीत में अमित शाह की बड़ी भूमिका रही है। लिहाजा पार्टी रणनीतिकार और गृहमंत्री अमित शाह यूपी की चुनौतियों से परिचित हैं। फिलहाल भाजपा का पूरा फोकस राज्य में फिर से सत्ता की वापसी पर है। इस बार कुछ सहयोगी पार्टी के साथ नहीं है। और पार्टी पांच साल से सत्ता में है। लिहाजा पार्टी का मानना है कि उसे सत्ता विरोधी लहर का नुकसान उठाना पड़ सकता है। अमित शाह की इन महत्वपूर्ण बैठकों में शामिल होने के लिए प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह, चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान, चुनाव प्रबंधन प्रभारी अनुराग ठाकुर और सभी सह प्रभारी भी आ रहे हैं। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने केंद्रीय गृहमंत्री के प्रवास को लेकर मंगलवार को पार्टी मुख्यालय में बैठक की। इस बैठक में प्रदेश महासचिव संगठन सुनील बंसल, प्रदेश सह महामंत्री संगठन कर्मवीर, प्रदेश महासचिव जेपीएस राठौर, गोविंद नारायण शुक्ला, अमर पाल मौर्य आदि मौजूद रहे।