युग करवट ब्यूरो
नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता दल ने तैयारियां तेज कर दी हैं। सबसे ज्यादा तेज गति से भाजपा की तैयारियां चल रही है। एक ओर प्रदेश में जहां संगठन को मजबूत किया जा रहा है तो वहीं केंद्रीय नेतृत्व की ओर से भी लगातार गाइडेंस दिया जा रहा है। प्रदेश की चुनाव तैयारियों को लेकर गुरुवार देरशाम को को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के आवास पर एक बैठक हुई। इस बैठक में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी थे। उनके अलावा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, यूपी भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, संगठन मंत्री सुनील बंसल भी शामिल रहे।
सूत्रों का दावा है कि करीब साढ़े तीन घंटे तक चली इस बैठक में उत्तर प्रदेश चुनाव से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की गई। गौरतलब है कि 2022 में उत्तर प्रदेश के साथ-साथ कई अन्य राज्यों में भी विधानसभा चुनाव होने हैं। इसको लेकर विभिन्न राजनीतिक दल अपनी तैयारियों में जुट गए हैं। इस बार तो औवैसी की पार्टी ने भी यूपी में चुनाव लडऩे का मन बनाया है।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक केंद्रीय नेतृत्व की ओर से योगी को चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण की उपलब्धियों पर एक यात्रा निकालने की रुपरेखा तैयार करने को कहा गया। साथ ही यह निर्देश भी दिया गया कि अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को लेकर हाल ही में केंद्र की ओर से लिए गए फैसलों को जमीनी स्तर पर पहुंचाने को लेकर वह एक रणनीति बनाएं। ज्ञात हो कि हाल ही में केंद्र सरकार ने अखिल भारतीय चिकित्सा शिक्षा कोटे में ओबीसी के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण संबंधी फैसला लिया था। पिछले दिनों संसद के मानसून सत्र में ओबीसी जातियों की पहचान करने और सूची तैयार करने संबंधी अधिकार राज्यों को देने वाला विधेयक पारित हुआ था। पार्टी की कोशिश अब इन फैसलों को चुनावों में भुनाने की है।
वहीं इस बैठक के बाद योगी मंत्रीमंडल के विस्तार की चर्चा भी शुरू हो गई है। कहा जा रहा है कि यूपी में जल्द ही मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है। इस पर भी बैठक में चर्चा हुई। इस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की राय ली गई है। बताया जा रहा है कि यूपी कैबिनेट में 5 से 7 नए मंत्री बनाए जाएंगे।
बैठक में प्रदेश के संगठन मंत्री सुनील बंसल ने विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर रिपोर्ट पेश की। गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा राष्टï्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सभी वर्गों को साथ लेकर चुनाव तैयारियों में जुटने के निर्देश दिए। अगले महीने से भाजपा राम मंदिर निर्माण की गाथा को लोगों तक पहुंचाने के लिए हर जिले में यात्रा निकालेगी।