नोएडा (युग करवट)। गौतमबुद्ध नगर पेरेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन (जीपीडब्ल्यूएस) के पदाधिकारियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने मेरठ स्थित मंडलायुक्त कार्यालय में ज्ञापन देकर अभिभावकों की समस्याओं के निस्तारण की मांग की। जीपीडब्ल्यूएस के संस्थापक मनोज कटारिया ने बताया कि कोरोना महामारी की वजह से सभी लोग आर्थिक रूप से परेशान हैं, ऐसे में निजी स्कूलों द्वारा अभिभावकों का उत्पीडऩ किया जा रहा है। बच्चों की फीस जमा ना होने पर उनकी ऑनलाइन क्लास में तक रोक दी जाती हैं। इस संबंध में एसोसिएशन द्वारा पूर्व में कई बार जिला प्रशासन व शिक्षा विभाग के अधिकारियों के समक्ष इस मुद्दे को उठाया गया लेकिन अभिभावकों को कोई राहत नहीं मिली। मनोज कटारिया ने बताया कि कोरोना की वजह से स्कूल बंद चल रहे हैं इसके बावजूद भी स्कूलों द्वारा अभिभावकों से पूरी फीस ली जा रही है। उन्होंने ज्ञापन में मांग की कि सरकार को स्कूलों के खातों के ऑडिट कर फीस स्कूल खर्च के हिसाब से निर्धारित करनी चाहिए। प्रतिनिधिमंडल में जीपीडब्ल्यूएस के अध्यक्ष कपिल शर्मा, उपाध्यक्ष योगेश भागौर, पुनीश गुलाटी, गीता विद्यार्थी, प्रदीप माहेश्वरी, विजय श्रीवास्तव, मधु सिंह, विपुल नागर आदि शामिल थे।