प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। गांव रईसपुर स्थित एक कॉलोनी में लगे सीसीटीवी कैमरे में दो वन्य जीव नजर आए। लोगों का मानना है कि यह तेंदूए के बच्चे हो सकते है। हालांकि इससे पहले गांव सदरपुर के पास भी ऐसे ही वन्य जीव नजर आए थे। कई दिन पहले की इस सूचना के बाद वन विभाग ने माना कि यह तेंदूआ हो सकता है। इस कारण वहां वन विभाग ने इन्हें पकडऩे के लिए पिंजरा लगाया हुआ है। उसके कई दिन बाद गांव रईसपुर के पास बनी कॉलोनी कैलाशपुरम में दो संदिग्ध वन्यजीव एक दुकान में लगे कैमरे में कैद हो गए। देखने से यह तेंदूए के बच्चे लगते है। दोनों एक साथ ही रहते है। कैमरे में जो रिकॉर्डिंग है उसमें दिखाई दे रहा है कि पहले एक तेंदूआ आता है इसक बाद दूसरा। फिर एक साथ ही वह आगे चलते जाते है। लोगों को इन वन्य जीव के तेंदूए होने का शक तब और गहरा गया तब आसपास रहने वाला एक आवारा डॉगी भी गायब है। आशंका है कि हो सकता है कि तेंदूए ने उसका शिकार किया हो।