युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। नामांतरण कराने वालों को इस महीने से नई मुश्किलें हो सकती है। ऐसे लोगों को जितनी रजिस्ट्री बीच में हुई है उसके हिसाब से हर बार में एक प्रतिशत का चार्ज नगर निगम में जमा कराना पड़ेगा। इसके बाद ही दूसरे के नाम प्रॉपर्टी में अपना नाम दर्ज किया जा सकेगा। अभी तक नगर निगम में नियम कुछ अलग था। पुराने नियम के हिसाब से अगर किसी ने आवंटित प्रॉपर्टी का नाम बीच में तीन प्रॉपर्टी के्रताओं के बाद में दर्ज नहीं कराया था तो प्रॉपर्टी की अंतिम कीमत का एक प्रतिशत पैसा जमा कर निगम जमा कर अपने नाम प्रॉपर्टी का नाम दर्ज कराया जा सकता था। अब इस नियम में बदलाव कर दिया गया। नया बदलाव है कि अगर किसी ने पहले कभी प्रॉपर्टी का नामांत्रण किया हुआ है। मगर उसके बाद से तीन बार से प्रॉपर्टी सेल हो चुकी है। और चौथीबार प्रॉपर्टी क्रेता को प्रॉपर्टी अपने नाम दर्ज कराना चाहता है तो बीच में तीन बार जिस जिस कीमत पर प्रॉपर्टी खरीदी गई है उन सब का चार बार एक एक प्रतिशत पैसा निगम लेगा।