युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। राष्टï्रीय अनुसूचित जाति आयोग के निदेशक एसके सिंह ने आज जिला सभागार में दलित वर्ग के उत्पीडऩ संबंधी मामलों की समीक्षा की। निदेशक एसके सिंह ने दलित वर्ग के संबंधित वादों के लंबित रहने पर नाराजगी जताई और देरी पर जवाब भी तलब किया। डायरेक्टर एसके सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि दलित वर्ग पर हो रहे उत्पीडऩ के मामलों का प्राथमिकता से निस्तारण किया जाए ताकि उन्हें न्याय मिल सके। इतना ही नहीं, पीडि़तों के मामलों को तत्काल प्रभाव से दर्ज कर उनपर कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश सकरार की प्राथमिकताओं में दलित वर्ग के उत्पीडऩ के मामलों का निस्तारण करना है। इतना ही नहीं, दलित वर्ग के लोगों को केंद्र व प्रदेश सरकार की योजनाओं का लाभ भी पहुंचाया जाए। हरसंभव दलित वर्ग की मदद की जाए। थानों में भी प्राथमिकता से इन मामलों को दर्ज किया जाए ताकि दलित वर्ग का कोई उत्पीडऩ नहीं कर सके। बैठक में डीएम आरके सिंह ने आश्वासन दिया कि दलित वर्ग के मामलों को प्राथमिकता पर निस्तारित किया जाएगा ताकि वर्ग के लोगों को न्याय मिल सके। बैठक में संबंधित विभाग के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।