क्षत्रियों की नाराजगी होगी दूर

मौजूदा सांसद जनरल वीके सिंह को टिकट नहीं दिये जाने से क्षत्रिय समाज नाराज दिखाई दे रहा है। कई दिन से लगातार अलग-अलग ठाकुर समाज के संगठन बैठकें करके भाजपा हाईकमान के निर्णय का विरोध कर रहे हंै। गाजियाबाद में लगातार कई दशकों से भाजपा ठाकुर जाति के ही व्यक्ति को उम्मीदवार बना रही थी। लगातार पांच बार डॉ. रमेश चंद तोमर को उम्मीदवार बनाया और वो चार बार चुनाव जीते भी। २००९ में भी रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को यहां से चुनाव लड़ाया। इसके बाद २०१४ और २०१९ में भी क्षत्रिय समाज को ही टिकट दिया। यानि जनरल वीके सिंह लगातार दो बार यहां से सांसद बनें। अब २०२४ में भाजपा हाईकमान ने नया प्रयोग करते हुए जहां ठाकुर उम्मीदवार बदल दिया वहीं मौजूदा विधायक को टिकट दिया। इस बार भाजपा हाईकमान ने गाजियाबाद ही नहीं कई अन्य सीटों पर भी उम्मीदवार बदल दिये। पहले कहा जाता था कि गाजियाबाद ठाकुर बाहुल्य सीट नहीं है, वैश्य सीट कही जाती थी, कभी ब्राह्मïण सीट कही जाती थी, इस बार वैश्य उम्मीदवार को उम्मीदवार बनाया तो ठाकुर समाज में उबाल आ गया। दरअसल, जनरल वीके सिंह का अपना एक अलग कद है और वो देश के उन व्यक्तित्व में शामिल हैं जिनका अपने समाज में ही नहीं बल्कि हर समाज में, हर जाति में, हर धर्म में अपना एक अलग ही स्थान है। इसलिए जनरल वीके सिंह टिकट कटने का दुख भाजपा कार्यकर्ताओं को ही नहीं बल्कि अन्य सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों को भी है। जानी-मानी एक कवियत्री ने युग करवट को एक मैसेज भेजा जिसमें लिखा कि भले ही भाजपा उम्मीदवार यहां से जीत जाएंगे लेकिन जनरल वीके सिंह जिस तरह सौम्य और सरल हैं उनका एक व्यक्तित्व सबसे अलग है। इस तरह के कितने मैसेज आ रहे हैं। क्षत्रिय समाज के विरोध को देखते हुए अब भाजपा भी मैनेज करने में लग गई है। बताते हैं कि गाजियाबाद ही नहीं बल्कि अन्य सीटों पर भी ठाकुर समाज को कम ही महत्व दिया गया है। इसलिए अब फिर भाजपा हाईकमान की नैया पार कराने के लिए दिलों पर राज करने वाले राजनाथ सिंह को मैदान में उतारा जा रहा है। ताकि क्षत्रिय समाज का गुस्सा कम किया जा सके। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दो अप्रैल को अतुल गर्ग गाजियाबाद में नामांकन करेंगे। उनके नामांकन में देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के शामिल होने की खबर है। यदि सबकुछ सही रहा तो राजनाथ सिंह का दो अप्रैल को आना तय है। वहीं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी भी अतुल गर्ग के नामांकन में शामिल होंगे। दरअसल, राजनाथ सिंह के नामांकन में आने से गाजियाबाद एकदम फिर सुर्खियों में आ जाएगा। इसी वजह से जहां ठाकुर समाज के गुस्से को कम करने के लिए माननीय राजनाथ सिंह को लाया जा रहा है। दरअसल, राजनाथ सिंह एक ऐसा नाम है जिनके आने से ही लोगों में एक अलग सा उत्साह पैदा हो जाएगा। जय हिंद