युग करवट संवाददाता
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की सरगर्मियों के बीच समाजवादी पार्टी के नेताओं पर आयकर विभाग ने आज छापेमारी की है। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के करीबी कहे जाने वाले कुछ नेताओं के घर शनिवार सुबह छापेमारी की कार्रवाई की गई। खबर लिखे जाने तक आयकर विभाग की ओर से छापेमारी की कार्रवाई जारी रही। आयकर विभाग की अलग-अलग टीमों ने लखनऊ के जैनेंद्र यादव, मैनपुरी के मनोज यादव और समाजवादी पार्टी के प्रवक्कता राजीव राय के घर मऊ में शनिवार की सुबह छापा मारा। आयकर विभाग के अधिकारी पूरे काफिला लेकर रेड करने पहुंचे। गजेंद्र यादव उर्फ नीटू अखिलेश यादव के ओएसडी हैं। आयकर टीम ने आगरा में भी छापेमारी कार्रवाई की।
इनकम टैक्स विभाग की टीम घर के चप्पे-चप्पे को खंगाला। जहां-जहां विभाग की टीम कार्रवाई कर रही हैं, उन घरों को सुरक्षाबलों ने घेर लिया है। किसी को भी अंदर जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है। शनिवार की सुबह आयकर विभाग की टीम मऊ में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजीव राय के घर पहुंची। टीम अंदर छानबीन कर रही थी तो बाहर सपा कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। हंगामे को देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस तैनात की गई। छापे की कार्रवाई के दौरान सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव राय को घर में ही नजरबंद कर दिया गया है। इनकम टैक्स की टीम वाराणसी से मऊ पहुंची थी। वहीं लखनऊ में अंबेडकर पार्क के पास स्थित जैनेंद्र यादव के आवास पर छापा मारा गया। इनकम टैक्स विभाग की टीम ने जैनेंद्र यादव के घर को बारीकी से खंगाला। उधर, अखिलेश यादव के करीबी आरसीएल ग्रुप के मालिक मनोज यादव के घर पर भी टीम ने छापा मारा। इस दौरान टीम किसी को भी घर के अंदर नहीं जाने दिया।
हालांकि आयकर विभाग की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया गया। बताया जाता है कि आय से अधिक संपत्ति के मामले में यह कार्रवाई की गई। मैनपुरी में आयकर विभाग की टीम ने शनिवार की सुबह आरसीएल ग्रुप के मालिक एवं सपा नेता मनोज यादव घर पर छापा मारा है। कई गाडिय़ों से आयकर अधिकारी यहां पहुंचे हैं। सपा नेता के घर के बाहर पुलिस फोर्स तैनात है। किसी को जाने की अनुमति नहीं है। सुबह आठ बजे अधिकारी घर के अंदर जांच कर रहे हैं। वहीं, राजीव राय ने कहा कि आयकर विभाग के लोग आए हैं। मेरा कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है। मेरे पास कोई अवैध पैसा नहीं है।