युग करवट ब्ूयरो
मुरादाबाद। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर दिए बयान पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर पलटवार किया है। योगी ने अखिलेश के बयान को शर्मनाक करार देते हुए तालिबानी मानसिकता बताया है।
मुरादाबाद में प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिन्ना से सरदार पटेल की तुलना करना शर्मनाक है। ये तालिबानी मानसिकता है। देश की जनता बर्दाश्त नहीं करेगी। जनता ने विभाजनकारी सोच को नकारा है। अखिलेश यादव को जनता से माफी मांगनी चाहिए। योगी ने कहा कि पिछली सरकार में बैठे लोग समाज को बांटने में लगे रहते थे। उनकी विभाजन की प्रवृति अभी तक नहीं गई है। कल मैं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की बातें सुन रहा था। वो इस राष्टï्र को जोडऩे वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल की तुलना जिन्ना से कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल भारत की एकता और अखंडता के शिल्पी हैं। उनके बयान से सपा प्रमुख की विभाजनकारी मानसिकता सामने आ गई। अखिलेश यादव ने चुनावी सभा के दौरान कहा था कि महात्मा गांधी के साथ ही जवाहरलाल नेहरू, सरदार पटेल और जिन्ना एक ही संस्थान से बैरिस्टर बनकर निकले थे। साथ में संघर्ष किया। कभी पीछे नहीं हटे। देश को आजादी दिलाई। इनकी सोच एक ही थी।